शिल्पकार. Blogger द्वारा संचालित.

चेतावनी

इस ब्लॉग के सारे लेखों पर अधिकार सुरक्षित हैं इस ब्लॉग की सामग्री की किसी भी अन्य ब्लॉग, समाचार पत्र, वेबसाईट पर प्रकाशित एवं प्रचारित करते वक्त लेखक का नाम एवं लिंक देना जरुरी हैं.
स्वागत है आपका

गुगल बाबा

इंडी ब्लागर

 

संसार पर विजय पाने वालों की अन्तिम यात्रा


साँझ हो रही थी
दिवस का समापन था
गगन रक्तिम हो रहा था
स्वच्छ शीतल वायु
प्रवाह पर थी
तरुवर रक्तिम कणों
से भरे हुए
धरनी पर सर्वत्र
रक्त का अहसास
रवि की रक्तिम किरने
दहला रही थी हृदय
साँझ का निशा से मिलन
स्वागत में उल्लुओं की कर्कश चीखें
चमगादडों की फडफड़ाहट
खंडहरों में नीरवता
सहसा पवन का रुक जाना
मौत का सन्नाटा
पत्ता तक नही हिलता था
उस शमशान में बैठा
मैं निहार रहा था
उन चंद चिताओं को
उनकी गगनचुम्बी जवालायें
इस संसार पर
अपनी विजय का
उद्घोष कर रही थी
शमशान से मैं गया नही
दीवानापन था मेरा
देख रहा था
संसार पर विजय पाने वालों की
अन्तिम यात्रा
जीते तो वे थे
मैं जीते जी हार गया
नभ में शशि की
बादलों से अठखेलियाँ
रंगरेलियां
यह उसका मुझ बेबस पर
मंदहास था।
आपका
शिल्पकार
(फोटो गूगल से साभार)

Comments :

2 टिप्पणियाँ to “संसार पर विजय पाने वालों की अन्तिम यात्रा”
विनय ‘नज़र’ ने कहा…
on 

ललित जी बहुत ख़ूब
---
Carbon Nanotube As Ideal Solar Cell

Harkirat Haqeer ने कहा…
on 

उस शमशान में बैठा
मैं निहार रहा था
उन चंद चिताओं को
उनकी गगनचुम्बी जवालायें
इस संसार पर
अपनी विजय का
उद्घोष कर रही थी
शमशान से मैं गया नही
दीवानापन था मेरा
देख रहा था
संसार पर विजय पाने वालों की
अन्तिम यात्रा
जीते तो वे थे

ललित जी बहुत अच्छी रचनायें हैं आपकी ....!!

 

लोकप्रिय पोस्ट

पोस्ट गणना

FeedBurner FeedCount

यहाँ भी हैं

ईंडी ब्लागर

लेबल

शिल्पकार (94) कविता (65) ललित शर्मा (56) गीत (8) होली (7) -ललित शर्मा (5) अभनपुर (5) ग़ज़ल (4) माँ (4) रामेश्वर शर्मा (4) गजल (3) गर्भपात (2) जंवारा (2) जसगीत (2) ठाकुर जगमोहन सिंह (2) पवन दीवान (2) मुखौटा (2) विश्वकर्मा (2) सुबह (2) हंसा (2) अपने (1) अभी (1) अम्बर का आशीष (1) अरुण राय (1) आँचल (1) आत्मा (1) इंतजार (1) इतिहास (1) इलाज (1) ओ महाकाल (1) कठपुतली (1) कातिल (1) कार्ड (1) काला (1) किसान (1) कुंडलियाँ (1) कुत्ता (1) कफ़न (1) खुश (1) खून (1) गिरीश पंकज (1) गुलाब (1) चंदा (1) चाँद (1) चिडिया (1) चित्र (1) चिमनियों (1) चौराहे (1) छत्तीसगढ़ (1) छाले (1) जंगल (1) जगत (1) जन्मदिन (1) डोली (1) ताऊ शेखावाटी (1) दरबानी (1) दर्द (1) दीपक (1) धरती. (1) नरक चौदस (1) नरेश (1) नागिन (1) निर्माता (1) पतझड़ (1) परदेशी (1) पराकाष्ठा (1) पानी (1) पैगाम (1) प्रणय (1) प्रहरी (1) प्रियतम (1) फाग (1) बटेऊ (1) बाबुल (1) भजन (1) भाषण (1) भूखे (1) भेडिया (1) मन (1) महल (1) महाविनाश (1) माणिक (1) मातृशक्ति (1) माया (1) मीत (1) मुक्तक (1) मृत्यु (1) योगेन्द्र मौदगिल (1) रविकुमार (1) राजस्थानी (1) रातरानी (1) रिंद (1) रोटियां (1) लूट (1) लोकशाही (1) वाणी (1) शहरी (1) शहरीपन (1) शिल्पकार 100 पोस्ट (1) सजना (1) सजनी (1) सज्जनाष्टक (1) सपना (1) सफेदपोश (1) सरगम (1) सागर (1) साजन (1) सावन (1) सोरठा (1) स्वराज करुण (1) स्वाति (1) हरियाली (1) हल (1) हवेली (1) हुक्का (1)