शिल्पकार. Blogger द्वारा संचालित.

चेतावनी

इस ब्लॉग के सारे लेखों पर अधिकार सुरक्षित हैं इस ब्लॉग की सामग्री की किसी भी अन्य ब्लॉग, समाचार पत्र, वेबसाईट पर प्रकाशित एवं प्रचारित करते वक्त लेखक का नाम एवं लिंक देना जरुरी हैं.
स्वागत है आपका

गुगल बाबा

इंडी ब्लागर

 

सबको बांटा जाएगा यौवन????!!!!

बूढा वृक्ष
जवान हो गया
जब से एक नन्ही परी
आदेश लायी वनराजा से
सबको बांटा जाएगा
यौवन
अब के मदन महोत्सव में
बोनस के रूप में
मैंने भी सोचा
यौवन वितरण
कितना पुनीत कार्य है!
मैं भी अपनी केंचुली
बदल लूँगा,
बूढी शाखाओं में
कोंपले फूटेंगी,
फ़िर आपस में
वे बुझेंगी
तू बता
मैं कल जैसी नही लग रही हूँ?
बड़ी उमंगें भर लाया संदेश
सावनी हिंडोले ने
जर्जर बुढापे को
पींगे मार-मार कर हिला डाला था।
सावनी बयार मेघदूतजैसी थी
हर तरफ उमंगे जवान थी,
मेरी मन में भी जवान होने की कसक थी
सोच कर बूढी हड्डियों में
एक सिरहन सी दौड़ गयी
सहसा विराम लग गया,
मै जाग चुका था,
वो मेरा सपना टूट चूका था।
वो सिरहन का अहसास अभी तक बाकी है,


आपका
शिल्पकार

(फोटो गूगल से साभार)

Comments :

3 टिप्पणियाँ to “सबको बांटा जाएगा यौवन????!!!!”
Nirmla Kapila ने कहा…
on 

रचना अच्छी है इन्सान की मृग्तृ्श्णा कभी मरती नहीं। तस्वीर बहुत अच्छी लगी धन्यवाद्

गिरीश पंकज ने कहा…
on 

priy bhai, aapki kavitaye dekh raha hoo. ek achchhe kavi hone ki anant sambhavanaye de kh raha hoo. kavita ab bahut se logon ke bas ki baat sambhav nahi. aap sambhav kar rahe hai, kyonki aapka man narmal hai. lage rahe. shubhkamnaye.....

गिरीश पंकज ने कहा…
on 

priy bhai, aapki kavitaye dekh raha hoo. ek achchhe kavi hone ki anant sambhavanaye de kh raha hoo. kavita ab bahut se logon ke bas ki baat sambhav nahi. aap sambhav kar rahe hai, kyonki aapka man narmal hai. lage rahe. shubhkamnaye.....

 

लोकप्रिय पोस्ट

पोस्ट गणना

FeedBurner FeedCount

यहाँ भी हैं

ईंडी ब्लागर

लेबल

शिल्पकार (94) कविता (65) ललित शर्मा (56) गीत (8) होली (7) -ललित शर्मा (5) अभनपुर (5) ग़ज़ल (4) माँ (4) रामेश्वर शर्मा (4) गजल (3) गर्भपात (2) जंवारा (2) जसगीत (2) ठाकुर जगमोहन सिंह (2) पवन दीवान (2) मुखौटा (2) विश्वकर्मा (2) सुबह (2) हंसा (2) अपने (1) अभी (1) अम्बर का आशीष (1) अरुण राय (1) आँचल (1) आत्मा (1) इंतजार (1) इतिहास (1) इलाज (1) ओ महाकाल (1) कठपुतली (1) कातिल (1) कार्ड (1) काला (1) किसान (1) कुंडलियाँ (1) कुत्ता (1) कफ़न (1) खुश (1) खून (1) गिरीश पंकज (1) गुलाब (1) चंदा (1) चाँद (1) चिडिया (1) चित्र (1) चिमनियों (1) चौराहे (1) छत्तीसगढ़ (1) छाले (1) जंगल (1) जगत (1) जन्मदिन (1) डोली (1) ताऊ शेखावाटी (1) दरबानी (1) दर्द (1) दीपक (1) धरती. (1) नरक चौदस (1) नरेश (1) नागिन (1) निर्माता (1) पतझड़ (1) परदेशी (1) पराकाष्ठा (1) पानी (1) पैगाम (1) प्रणय (1) प्रहरी (1) प्रियतम (1) फाग (1) बटेऊ (1) बाबुल (1) भजन (1) भाषण (1) भूखे (1) भेडिया (1) मन (1) महल (1) महाविनाश (1) माणिक (1) मातृशक्ति (1) माया (1) मीत (1) मुक्तक (1) मृत्यु (1) योगेन्द्र मौदगिल (1) रविकुमार (1) राजस्थानी (1) रातरानी (1) रिंद (1) रोटियां (1) लूट (1) लोकशाही (1) वाणी (1) शहरी (1) शहरीपन (1) शिल्पकार 100 पोस्ट (1) सजना (1) सजनी (1) सज्जनाष्टक (1) सपना (1) सफेदपोश (1) सरगम (1) सागर (1) साजन (1) सावन (1) सोरठा (1) स्वराज करुण (1) स्वाति (1) हरियाली (1) हल (1) हवेली (1) हुक्का (1)