शिल्पकार. Blogger द्वारा संचालित.

चेतावनी

इस ब्लॉग के सारे लेखों पर अधिकार सुरक्षित हैं इस ब्लॉग की सामग्री की किसी भी अन्य ब्लॉग, समाचार पत्र, वेबसाईट पर प्रकाशित एवं प्रचारित करते वक्त लेखक का नाम एवं लिंक देना जरुरी हैं.
स्वागत है आपका

गुगल बाबा

इंडी ब्लागर

 

3043 के बाद सस्ती होगी शक्कर (कविता)

ज सुबह का अखबार उठाया और पढने लगा, उसके शीर्षकों पर ध्यान दिया तो थोड़ी मेहनत से कुछ क्षणिकाओं का जन्म हुआ, बस यूँ ही बन गई. आपसे आशीर्वाद चाहूँगा.


(१)
इस बार का 
बजट चुनौती पूर्ण 
अर्थ शास्त्री ने 
दिये अर्थ मंत्र 
नि:शुल्क 
प्लास्टिक सर्जरी कराएँ
छवि सुधारें


 (२)
फैसला आज सम्भव
रानी जल्द बनेगी दुल्हन
सुनहले पल
कोरिया के राष्ट्रपति
होंगे चीफ गेस्ट

(३)

तोहफों की बौछार
जनकल्याण कारी दिवस पर
मनमोहन से महंगाई नहीं संभली
सरकार में बगावत
शेयर बाजार में गिरावट
क़यामत की घडी 

(४)

शादी करने को
तैयार है शाहिद
इडियट्स को पाठ
बच्चों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़

(५)
अद्भुत
सूर्य ग्रहण
3043 के बाद
कम्पनियों से
गिफ्ट नहीं ले सकेंगे
सस्ती होगी शक्कर




आपका 
शिल्पकार

Comments :

16 टिप्पणियाँ to “3043 के बाद सस्ती होगी शक्कर (कविता)”
पी.सी.गोदियाल ने कहा…
on 

इस बार का
बजट चुनौती पूर्ण
अर्थ शास्त्री ने
दिये अर्थ मंत्र
नि:शुल्क
प्लास्टिक सर्जरी कराएँ
छवि सुधारें

यह सबसे उत्तम लगा ललित जी !

राजीव तनेजा ने कहा…
on 

अद्भुत हुनर के मालिक हैं आप तो

खुशदीप सहगल ने कहा…
on 

ललित भाई,
क्यों शरद पवार जी के पीछे लठ्ठ लेकर पड़े हैं...एक तो बेचारे देश की सेहत का ध्यान रख रहे हैं और आप चीनी-चीनी की रट लगा रहे हैं...अरे पवार जी की भावनाओं को समझों...वो दूरदृष्टा है...पास के नुकसान के लिए दूर का फायदा नहीं छोड़ते...अरे न रहेगा बांस और न बजेगी बांसुरी...जब चीनी रहेगी ही नहीं तो फिर भला देश में मधुमेह (डॉयबिटीज़) का कोई रोगी मिलेगा...

जय हिंद...

संगीता पुरी ने कहा…
on 

सारी रचनाएं अच्‍छी लगी .. और अंतिम वाली को पढते हुए आशा भी बंधी .. चलिए कभी तो मीठा युग आएगा !!

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi ने कहा…
on 

अरे आप भी संगीता जी की संगत में रह कर भविष्यवाणियाँ करने लगे।

ललित शर्मा ने कहा…
on 

वकील साहब-
असर तो होता है,
कभी हमारी भी सच होगी
भविष्यवाणियाँ
लेकिन 3043कु्छ
ज्यादा समय ले लिया।:):)

Dr. Smt. ajit gupta ने कहा…
on 

आपने यह नहीं बताया कि 3043 तक कितनी होगी मंहगी शक्‍कर। ब्‍लाग पर गुलाब भेजने के लिए शुक्रिया।

राज भाटिय़ा ने कहा…
on 

बहुत सुंदर ललित भाई

singhsdm ने कहा…
on 

news......ke saath kya combo diya bandhuvar

dhiru singh {धीरू सिंह} ने कहा…
on 

३०४३ तक तो हम बहुत बुडे हो जायेंगे . पर शक्कर तो सस्ती मिलेगी इस बात क सन्तोष है

ताऊ रामपुरिया ने कहा…
on 

बहुत गजब की रचना.

रामराम.

संजीव तिवारी .. Sanjeeva Tiwari ने कहा…
on 

अरे वाह .
भाई हमारी भी कविताई टिप्पणी स्वीकारे -
शव्दो की धार
हो रही है दिन पे दिन पैनी पे पैनी.

गुंगे पत्थर भी मुखर हुये

जब चली शिल्पकार की छैनी.

AlbelaKhatri.com ने कहा…
on 

bhai ! kavitaaon ne to aanand diya hi, ye baraste hue gulaab bhi kamaal hain

abhinandan !

गिरीश पंकज ने कहा…
on 

dhaardar kaviyye. dikhate raho apni ahumukhi lalit-pratibh.

मनोज कुमार ने कहा…
on 

वाकेयी कमाल की रचनायें हैं।

pushpendra kumar ने कहा…
on 

bahut badhiya kavita
aabhar

 

लोकप्रिय पोस्ट

पोस्ट गणना

FeedBurner FeedCount

यहाँ भी हैं

ईंडी ब्लागर

लेबल

शिल्पकार (94) कविता (65) ललित शर्मा (56) गीत (8) होली (7) -ललित शर्मा (5) अभनपुर (5) ग़ज़ल (4) माँ (4) रामेश्वर शर्मा (4) गजल (3) गर्भपात (2) जंवारा (2) जसगीत (2) ठाकुर जगमोहन सिंह (2) पवन दीवान (2) मुखौटा (2) विश्वकर्मा (2) सुबह (2) हंसा (2) अपने (1) अभी (1) अम्बर का आशीष (1) अरुण राय (1) आँचल (1) आत्मा (1) इंतजार (1) इतिहास (1) इलाज (1) ओ महाकाल (1) कठपुतली (1) कातिल (1) कार्ड (1) काला (1) किसान (1) कुंडलियाँ (1) कुत्ता (1) कफ़न (1) खुश (1) खून (1) गिरीश पंकज (1) गुलाब (1) चंदा (1) चाँद (1) चिडिया (1) चित्र (1) चिमनियों (1) चौराहे (1) छत्तीसगढ़ (1) छाले (1) जंगल (1) जगत (1) जन्मदिन (1) डोली (1) ताऊ शेखावाटी (1) दरबानी (1) दर्द (1) दीपक (1) धरती. (1) नरक चौदस (1) नरेश (1) नागिन (1) निर्माता (1) पतझड़ (1) परदेशी (1) पराकाष्ठा (1) पानी (1) पैगाम (1) प्रणय (1) प्रहरी (1) प्रियतम (1) फाग (1) बटेऊ (1) बाबुल (1) भजन (1) भाषण (1) भूखे (1) भेडिया (1) मन (1) महल (1) महाविनाश (1) माणिक (1) मातृशक्ति (1) माया (1) मीत (1) मुक्तक (1) मृत्यु (1) योगेन्द्र मौदगिल (1) रविकुमार (1) राजस्थानी (1) रातरानी (1) रिंद (1) रोटियां (1) लूट (1) लोकशाही (1) वाणी (1) शहरी (1) शहरीपन (1) शिल्पकार 100 पोस्ट (1) सजना (1) सजनी (1) सज्जनाष्टक (1) सपना (1) सफेदपोश (1) सरगम (1) सागर (1) साजन (1) सावन (1) सोरठा (1) स्वराज करुण (1) स्वाति (1) हरियाली (1) हल (1) हवेली (1) हुक्का (1)