शिल्पकार. Blogger द्वारा संचालित.

चेतावनी

इस ब्लॉग के सारे लेखों पर अधिकार सुरक्षित हैं इस ब्लॉग की सामग्री की किसी भी अन्य ब्लॉग, समाचार पत्र, वेबसाईट पर प्रकाशित एवं प्रचारित करते वक्त लेखक का नाम एवं लिंक देना जरुरी हैं.
स्वागत है आपका

गुगल बाबा

इंडी ब्लागर

 

कठपुतली

कठपुतली नाचती है
उसके हर ठुमके पर
तालियाँ बजती हजार
होठो पर छाती है स्मित 
थिरकते कदमों से 
करती है अभिवादन
खेल ख़त्म होते ही
नट खोलता है धागे
अपने पोरों से 
बेजान कठपुतलियां
फिर टंग जाती हैं
बरसों पुरानी खूंटी से
बार बार छली जाती हैं
मालूम होते हुए भी 
उनके प्राण किसी 
और के हाथों में हैं
जो धागे बांध नाचता है
     
आपका 
शिल्पकार  

Comments :

9 टिप्पणियाँ to “कठपुतली”
ravikumarswarnkar ने कहा…
on 

बेहतर जनाब...

AlbelaKhatri.com ने कहा…
on 

aanand aa gaya bhai ji..........

baabe ki jai ho !

वन्दना ने कहा…
on 

सशक्त अभिव्यक्ति।

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…
on 

हम भी कठपुतलियाँ ही हैं बस बेजान नहीं हैं ...

सुन्दर रचना

शरद कोकास ने कहा…
on 

हमे तो इतना पता है कि इस कठपुतली को बनाता शिल्पकार ही है । अब इस कठ्पुतली और शिल्पकार के ध्व्न्यार्थ समझ लें ।

चंद्रमौलेश्वर प्रसाद ने कहा…
on 

हम सब कठपुतलियां है ... कभी उस अनदेखे ईश्वर के हाथ, कभी राजनेता के हाथ, कभी अधिकारियों के हाथ तो कभी हालात के हाथ :(

ZEAL ने कहा…
on 

इश्वर के रचे इस खेल में , हम सब कठपुतलियां ही तो हैं ।

Kailash C Sharma ने कहा…
on 

गहन भाव लिये बहुत सुन्दर प्रस्तुति...

vibha rani Shrivastava ने कहा…
on 

आपकी लिखी रचना "पांच लिंकों का आनन्द में" शनिवार 22 अक्टूबर 2016 को लिंक की जाएगी .... http://halchalwith5links.blogspot.in पर आप भी आइएगा ....धन्यवाद! .

 

लोकप्रिय पोस्ट

पोस्ट गणना

FeedBurner FeedCount

यहाँ भी हैं

ईंडी ब्लागर

लेबल

शिल्पकार (94) कविता (65) ललित शर्मा (56) गीत (8) होली (7) -ललित शर्मा (5) अभनपुर (5) ग़ज़ल (4) माँ (4) रामेश्वर शर्मा (4) गजल (3) गर्भपात (2) जंवारा (2) जसगीत (2) ठाकुर जगमोहन सिंह (2) पवन दीवान (2) मुखौटा (2) विश्वकर्मा (2) सुबह (2) हंसा (2) अपने (1) अभी (1) अम्बर का आशीष (1) अरुण राय (1) आँचल (1) आत्मा (1) इंतजार (1) इतिहास (1) इलाज (1) ओ महाकाल (1) कठपुतली (1) कातिल (1) कार्ड (1) काला (1) किसान (1) कुंडलियाँ (1) कुत्ता (1) कफ़न (1) खुश (1) खून (1) गिरीश पंकज (1) गुलाब (1) चंदा (1) चाँद (1) चिडिया (1) चित्र (1) चिमनियों (1) चौराहे (1) छत्तीसगढ़ (1) छाले (1) जंगल (1) जगत (1) जन्मदिन (1) डोली (1) ताऊ शेखावाटी (1) दरबानी (1) दर्द (1) दीपक (1) धरती. (1) नरक चौदस (1) नरेश (1) नागिन (1) निर्माता (1) पतझड़ (1) परदेशी (1) पराकाष्ठा (1) पानी (1) पैगाम (1) प्रणय (1) प्रहरी (1) प्रियतम (1) फाग (1) बटेऊ (1) बाबुल (1) भजन (1) भाषण (1) भूखे (1) भेडिया (1) मन (1) महल (1) महाविनाश (1) माणिक (1) मातृशक्ति (1) माया (1) मीत (1) मुक्तक (1) मृत्यु (1) योगेन्द्र मौदगिल (1) रविकुमार (1) राजस्थानी (1) रातरानी (1) रिंद (1) रोटियां (1) लूट (1) लोकशाही (1) वाणी (1) शहरी (1) शहरीपन (1) शिल्पकार 100 पोस्ट (1) सजना (1) सजनी (1) सज्जनाष्टक (1) सपना (1) सफेदपोश (1) सरगम (1) सागर (1) साजन (1) सावन (1) सोरठा (1) स्वराज करुण (1) स्वाति (1) हरियाली (1) हल (1) हवेली (1) हुक्का (1)